Uncategorized

अगर आपको भी दिन में बहुत ज्यादा नींद आती है इस आर्टिकल पढ़ना ना भूलें din mein neend kyu aati hai

din mein neend kyun aati hai : दिन में नींद आने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं| थकान कमजोरी और लंबे समय तक कार्य करने पर शरीर को आराम की जरूरत भी होती है मगर आपको हद से ज्यादा नींद आती हो मतलब दिन में बेहद नींद आती है आपको यह डिसऑर्डर तो नहीं

आमतौर पर जिस व्यक्ति को डिसऑर्डर की बीमारी हो उस व्यक्ति को दिन में ज्यादा नींद आने लगती है नारकोलेप्सी के कारण व्यक्ति किसी भी परिस्थिति में अचानक सो जाता है कई बार मरीज बैठे-बैठे हंसते व या रोते समय भी सोने लगता है अगर आमतौर पर किसी को नींद इस तरीके से ज्यादा आती है तो समझ लेना चाहिए कि यह नारकोलेप्सी के कारण होती है यह एक डिसऑर्डर है इसका मतलब आपके शरीर में ज्यादा थकान है खाना खाने के बाद नींद आने से नहीं जोड़ना चाहिए

खाना खाने के बाद और थकान से व्यक्ति को नींद या अलस जैसा महसूस होता है मगर उसको ज्यादा नींद नहीं आती और लगातार नहीं नींद नहीं आती

लगातार बहुत ज्यादा नींद आती है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए सर डॉक्टर दिन में ज्यादा नींद आने की समस्या को नारकोलेप्सी को मेडिकल साइंस में 1 न्यूरोलॉजिस्ट समय से माना जाता है इसका इलाज भी संभव है आइए समझते हैं यह डिसऑर्डर क्या है

नारकोलेप्सी एक तरह का स्लीप डिसऑर्डर है जिसमें मरीज कभी भी कहीं भी जहां उसको नींद आई जो अचानक सो जाता है मरीज दिन को भरपूर नींद लेने के बावजूद भी डिसऑर्डर की वजह से दिन में भी हो गहरी नींद आती है और उसको हर समय नींद का एहसास होता है और उसको ऐसा महसूस होता है कि वह अभी सोया है कि नहीं है मगर वह 24 घंटे सोता भी है फिर भी उसको मैं सोने जैसा महसूस होता है यह बीमारी ज्यादातर 15 से 25 साल की उम्र के लोगों में पाई जाती हैं यह जरूरी नहीं कि महिला को हो पुरुषों की भी हो जाती है

क्या नारकोलेप्सी के लक्षण

इसमें मरीज को पूरे दिन नींद आती रहती है
रात को बहुत नींद लेने के बावजूद दिन में भी नींद आती है
ऐसे मरीज दिन में कहीं भी सो जाते हैं
हम तो इस प्रकार के मरीज सुबह बहुत देर से उठते हैं
नारकोलेप्सी के मरीजों को कई बार स्लीप पैरालिसिस की समस्या भी हो सकते हैं

दिन में बहुत ज्यादा नींद आना है या नहीं इस समस्या से बचने के उपाय

नारकोलेप्सी के मरीजों को सोने का एक समय निर्धारित कर लेना चाहिए उसके बाद कैसे भी उसको बिस्तर पर नहीं जाना चाहिए और बिस्तर पर निश्चित समय पर जाकर सोना चाहिए और सुबह जल्दी निश्चित समय पर बिस्तर छोड़ देना चाहिए ऐसे लोगों को बेडरूम में पढ़ाई टीवी देखना इस प्रकार के कार्य नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे अच्छी नींद लेने में परेशानी होती है

अगर नींद ज्यादा आती हो तो क्या करें

इस व्यक्ति को बहुत ज्यादा नींद आने की समस्या हो तो उनको छोटी-छोटी 15 से 20 मिनट की झपकी ले लेनी चाहिए

जबकि लेने से आपको ताजगी महसूस होगी और कुछ देश नींद भी नहीं आएगी और डॉक्टर से जल्दी से जल्दी सलाह लेनी चाहिए क्योंकि जितना जल्दी इलाज करते हैं तो इतनी जल्दी उसका समाधान भी है नारकोलेप्सी के इलाज के लिए मोडाफिनिल नाम की दवा का इस्तेमाल होता है जिसके कई साइड इफैक्ट्स भी हो सकते इसलिए इससे डॉक्टर की सलाह से ही लेनी चाहिए डॉक्टर देना सलाह से कोई भी दवाई नहीं लेनी चाहिए

दोस्तों इस आर्टिकल में आपको दिन में ज्यादा नींद आने की समस्या और समाधान कारण निवारण से समझाया गया है आशा करता हूं आप को सब कुछ समझ आ गया हो और अगर यह आर्टिकल आपको बहुत अच्छा लगा हो तो आप ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *