Uncategorized

मोबाइल Blue बलू लाइट से होने वाले दुष्प्रभाव कारण निवारण सहित पूरी जानकारी

मोबाइल की ब्लू लाइट होते हैं अंधापन के खतरे अगर आप मोबाइल के ब्लू लाइट ज्यादा देते हैं या नहीं आप मोबाइल को ज्यादा देखते हैं तो आपके अंधापन होना आपको कम दिखाई देना आंखों में सूखापन और दर्द जैसी समस्याएं जल्दी से शुरू हो जाती है और अगर यह सिलसिला लगातार चलता रहे तो कुछ समय बाद आपकी यह मोबाइल वाली ब्लू लाइट से आपके आंख की कोर्निया को भी क्षति पहुंचा सकते हैं

मोबाइल के ब्लू प्रकाश से अंधापन कैसे होता है जानिए पूरी जानकारी

मोबाइल ब्लू लाइट के फायदे कम खतरे ज्यादा है आपने देखा होगा कि मोबाइल की ब्लू लाइट में जवाब देते हैं या मोबाइल पर जो कुछ काम करते हैं कई घंटों तक फेसबुक चलाते हैं या व्हाट्सएप चलाते हैं उसके बाद जब आप दूसरी तरफ देखते हैं दूर तक तो आप आंखों का के धब्बा खून और देखने में समस्या महसूस होती है काफी टाइम तक आपको दिखाई नहीं देता है और आंखों में सूखापन सा महसूस होता है जो आंखों की पलकों को खाते हैं तो सूखापन सा महसूस होता है क्योंकि आप मोबाइल बहुत ज्यादा देर तक याद कुछ कुछ देर में भी आप मोबाइल को दिन में बहुत ज्यादा देखते हैं इसलिए आपके साथ होता है

देखिए मोबाइल से आंखों के साथ सेहत पर क्या प्रभाव पड़ता है

मोबाइल का प्रकाश आपकी आंखों को क्षति पहुंचाता ही है साथ ही आपकी सेहत पर भी बहुत बुरा असर होता है इसलिए मोबाइल का प्रयोग सिर्फ बातचीत करने या कुछ समय के लिए अपने काम से प्रयोग करना चाहिए

मोबाइल से अंधापन होने के उपाय

जो लोग मोबाइल के आदी हो चुके हैं दिन और रात मोबाइल के बिना रह नहीं सकते उन लोगों के लिए यह मोबाइल वाली ब्लू लाइट उनको जल्दी ही आंखों की रोशनी कम करने में महत्वपूर्ण योगदान दे सकती है इसलिए कृपया करके अपनी आंखों की रोशनी बचानी हो तो ज्यादा से ज्यादा हरे पत्तेदार वाली सब्जियां पत्तेदार वाले सब्जियों के जूस पीना चाहिए और मोबाइल का प्रयोग बहुत कम कर देना चाहिए

मोबाइल से होने वाले दुष्प्रभाव से बचने के लिए यह तरीके अपनाएं

विशेषकर बच्चों को मोबाइल पर गेम नहीं खेलना चाहिए

मोबाइल पर जाता देर फिल्म देखना गेम खेलना सभी छोटे और बड़े लोगों की आंखों के साथ-साथ सेहत पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है

इसलिए मोबाइल देखने की आदत को बदल दें

मोबाइल का प्रेमी बनाने से अच्छा है काम पर ज्यादा ध्यान दें ताकि कमाई करके कि आपकी सेहत के साथ साथ रूपए की समस्या से तनाव भी दूर हो सके

मोबाइल एक बातचीत का माध्यम है इसको बातचीत का माध्यम ही बनाना चाहिए अगर आपको फिल्में और गेम खेलना पसंद है तो आप बड़ी स्क्रीन या नहीं कंप्यूटर पर कभी दूर बैठकर दूर से देख सकते हैं और गेम भी खेल सकते हैं ताकि आपकी आंखों पर प्रभाव जो मोबाइल पर से पड़ता है वह कुछ कम पड़ेगा या नहीं आप बहुत से ज्यादा सेहत पर ध्यान दे सकेंगे और आपकी सेहत पर ज्यादा दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा मोबाइल पर फिल्म देखना और गेम खेलने से आपकी आंखों और शहर पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है साथ ही यह एक बुरी आदत भी पड़ जाती है फिर आप मोबाइल के बिना कभी रह नहीं सकते हैं भले ही वह कोई काम की हो या आपको कोई काम हो या ना हो आप को मोबाइल पास रखने की और दिनभर चलाने की बुरी आदत पड़ जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *